Moral Story in Hindi

दो पत्थरों की प्रेरक कहानी – Moral Story in Hindi

Moral Story in Hindi – दोस्तों ज़िंदगी हर इंसान को महान बनने का अवसर जरूर देती है, लेकिन अक्सर हमारी ज़िंदगी में ऐसा होता है कि जब हम किसी काम को करने लगते हैं । यदि हमे उस काम में थोड़ा भी दुःख या तकलीफ हो रही होती हैं तो हम उसे छोड़ देते हैं या फिर उस काम से भागने की कोशिश करते हैं । फिर कोई दूसरा व्यक्ति उसी काम को कर के महान बन जाता है तो हम सोचते हैं कि ” यार उसकी तो किस्मत ही अच्छी थी ” इसी बात को समझने के लिए हम आपके साथ एक कहानी “Moral Story in Hindi” को Share कर रहे हैं । उम्मीद है आपको जरूर पसंद आएगी ।

एक समय की बात है एक कलाकार अपने औजारों को ठेले में भरकर जंगल की ओर चल देता है । थोड़ी दूर चलते चलते उसको रास्ते में एक बहुत ही सुंदर पत्थर दिखाई देता है । वो सोचता है कि मैं इस पत्थर से मैं एक मूर्ति बनाऊं । फिर वह अपने औज़ार निकालता है और औज़ार से पत्थर को तराशना शुरू कर देता है ।

तभी पत्थर में से एक आवाज आती है “अरे भाई जाने दो ना” दर्द होता है । यह सुनने के बाद कलाकार अपने औजारों को अपने हथेली में रख कर आगे चला जाता है । फिर थोड़ा आगे चलकर उस कलाकार को एक और सूंदर पत्थर दिखाई देता है । अब वो इस पत्थर की मूर्ति बनाने की सोचता है ।

अपने औज़ारों को बाहर निकाल कर वो एक भगवान की मूर्ति तराशना शुरू कर देता है । वो इस पत्थर पर इतने अचे से मूर्ति को तराशता है कि मानो जैसे मूर्ति अभी बोल उठेगी । फिर वह कलाकार अपनी कलाकृति को वहीं छोड़ कर आगे चला जाता है । फिर चलते चलते वो कलाकार एक गांव में पहुंचता है और देखता है कि एक बहुत सुंदर मंदिर का निर्माण हुआ होता है । तभी उसे पता चलता है मंदिर का निर्माण हो गया है लेकिन अभी मूर्ति का निर्माण नहीं हुआ है । सभी लोग आपस में ये बात कर रहे होते हैं कि अब मूर्ति कहाँ से लायें ।

तभी वह कलाकार गावं के सरपंच जी से कहता है कि आप मूर्ति की चिंता बिल्कुल ना करें । आप जंगल के रास्ते चले जाएं । वहाँ आपको रास्ते में एक सुंदर मूर्ति मिल जाएगी । मेने उस मूर्ति को अपने हाथों से तराशा है । आप उसे इस मंदिर में स्थापित कर सकते हैं । यह सुनने के बाद सरपंच जी कुछ लोगों के साथ जंगल के रास्ते चल देता है । वहाँ उनको मूर्ति मिल जाती है और वो मूर्ति को लाकर मंदिर में स्थापित कर देते हैं । अब मंदिर में लोग आते हैं और मूर्ति के सामने अपना सिर झुकाते और मन्नत मांगते हैं

पर उस मंदिर में नारियल फोड़ने कि कोई जगह नहीं होती । तब सरपंच जी के मन में विचार आता है कि नारियल फोड़ने के लिए मंदिर के बाहर एक और पत्थर होना चाहिए । तभी वह कलाकार सरपंच जी से पहले वाले पत्थर के बारे में बताता है जिसको बनाना चाहता था पर बनाया नहीं । यह सुनने के बाद सरपंच जी उस पत्थर को भी जंगल से उठा कर लाते हैं और उसे मंदिर के बाहर रख देते हैं । अब जो भी मंदिर में पूजा करने आता है वो उस पत्थर पर अपना नारियल फोड़ता है ।

फिर एक दिन दोनों पत्थर आपस में बात कर रहे होते हैं । जिस पत्थर पर आज सब नारियल फोड़ते हैं वह पत्थर मूर्ति वाले पत्थर से बोलता है कि “अरे वाह ! पत्थर, तेरी क्या किस्मत है” तुझे आज भगवान बनाकर पूजा जा रहा है, तेरी इतनी आरती उतारी जा रही है । यह सुनने के बाद मूर्ति वाला पत्थर बोलता है कि अगर तुमने भी मेरी तरह सहन कर लिया होता तो तुम आज मेरी जगह होते ।

जी हां दोस्तों अगर वह पत्थर जिस पर आज नारियल फोड़ा जा रहा है अगर वह उस दिन दर्द सहन कर लेता तो आज वह भगवान होता और उसकी पूजा और आरती हो रही होती । दोस्तों इस कहानी से हमें बहुत बड़ी सीख मिलती है कि इस दुनिया में उसी इंसान को पूजा जाता है जो सफल होता है और सफलता उन्ही लोगों को मिलती है जो अपने जीवन में कुछ बनने के लिए बहुत दर्द को झेलने के लिए तैयार रहते हैं ।

इसलिए दोस्तों आप सब से एक छोटी सी बात कहना चाहूंगा कि आप जो भी कर रहे हैं आप उसको लगन और कड़ी मेहनत से करिए “फिर चाहे वो पढ़ाई हो या फिर बिजनेस” आपको सफलता जरूर मिलेगी । दोस्तों इस कहानी की तरह ही हम सब की कहानी है जो लोग दर्द सहते हैं वही अपने जीवन में कुछ बड़ा बन पाते हैं और फिर उन्हीं को लोग पूजते हैं ।

दोस्तों आपको ये कहानी “दो पत्थरों की प्रेरक कहानी – Moral Story in Hindi” कैसे लगी । यदि आपको ये कहानी Moral Story in Hindi” अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी Share कर सकते हैं ।

NOTE ⇒ हमारा उद्देश्य ज्ञान को बांटना (share) है और यह काम हम अकेले नहीं कर सकते क्योंकि इस दुनिया का सारा ज्ञान हमारे पास नहीं है और हम भी आपकी तरह एक ही सामान्य व्यक्ति है जो दिन में खुली आँखों से सपने देखते है और उन्हें पूरा करने के लिए कोशिश करते रहते है | दोस्तों ज्ञान बांटने से बढ़ता है इसलिए आप भी HINDI के इस अनमोल मंच से जुड़े एंव अपने ज्ञान को हमारे साथ share करें, हम आपके द्वारा भेजे गए सभी अच्छे लेखों को Website पर publish करेंगे| आप अपने लेख हमें Whattsapp Number ( 85569-78342 ) पर भेज सकते है

Spread the love by Sharing

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *